Advertisement

स्कूलों में अध्यापन शुरू करने को लेकर बड़ी खबर

 गांधीनगर: कोरोना की दूसरी लहर में ढील दी गई है. पिछले कुछ दिनों से कोरोना के मामले में गिरावट आ रही है। इसलिए आज यानि बुधवार को कैबिनेट की बैठक होनी है. इस बैठक में सरकार राज्य के स्कूलों में शिक्षा का काम शुरू करने को लेकर अहम फैसला ले सकती है.





 कैबिनेट की बैठक में इस मुद्दे पर गंभीरता से चर्चा हुई। कोरोना की स्थिति कम होने पर अगले 2 महीने में स्कूल शुरू होने की उम्मीद है। सरकार अगले 2 महीने में ऑफलाइन शिक्षा पर विचार कर रही है। राज्य सरकार भी स्कूलों को शुरू करने के सकारात्मक मूड में है। ऑफलाइन स्कूल शुरू करने के लिए निकट भविष्य में एसओपी तय की जाएगी।एसओपी के तहत शैक्षणिक कार्य शुरू करने की योजना है।



 गौरतलब है कि 1 से 12वीं में मास प्रमोशन दिया गया है। जिससे माध्यमिक और उच्च माध्यमिक विद्यालयों में प्रवेश की समस्या उत्पन्न हो सकती है। वहीं, सरकार ने 9, 11 और 12 में 60 के बजाय 75 छात्रों को प्रवेश की अनुमति दी है। सरकार के संकल्प के अनुसार एक कक्षा में प्रवेश का प्रावधान वर्ष 2021-22 के कक्षा 9 और कक्षा 11 में 75 छात्रों और शैक्षणिक वर्ष 2022 के लिए कक्षा 10 और कक्षा 12 में लागू होगा- 23.


The second wave of Corona has been relaxed. For the last few days, the cases of corona have been declining. That is why the cabinet meeting is to be held today i.e. on Wednesday. In this meeting, the government can take an important decision to start education work in the schools of the state.


This issue was seriously discussed in the cabinet meeting. School is expected to start in the next 2 months when the situation of Corona subsides. The government is considering offline education in the next 2 months. The state government is also in a positive mood to start schools. SOP will be decided in near future to start offline school. There is a plan to start educational work under SOP.






 It is worth mentioning that mass promotion has been given in class 1 to 12. Due to which the problem of admission in secondary and higher secondary schools may arise. At the same time, the government has allowed 75 students instead of 60 in 9, 11 and 12. As per the resolution of the government, the provision of admission in one class will be applicable to 75 students in class 9 and class 11 for the year 2021-22 and in class 10 and class 12 for the academic year 2022- 23.

Post a Comment

0 Comments